घर से जब भी बाहर निकलें तो मास्क जरूर पहनें फिर चाहे घर पर बना मास्क हो या मार्केट में मिलने वाला मास्क. अगर आप घर पर मास्क बना रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना होगा.

पूरी दुनिया कोविड- 19 के खिलाफ जंग लड़ रही है. कोरोना को अगर हराना है तो आपको सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना है बार बार साबुन से हाथों को धोना है और घर से बाहर निकलते वक्त मास्क जरूर लगाना है. अगर आपको सर्दी खांसी है तो आपको N-95 मास्क का इस्तेमाल करना है लेकिन अगर आपको कोई परेशानी नहीं है तो आप घर पर बना मास्क भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

मार्केट और ऑनलाइन साइट्स पर इस वक्त मास्क की बहुत डिमांड है  जिसकी वजह से मास्क नहीं मिल पा रहे हैं ऐसे में सरकार की ओर से लोगों को घर पर बने मास्क पहनने का सुझाव दिया जा रहा है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से यू ट्यूब पर एक वीडियो भी अपलोड किया गया है जिसमें घर पर मास्क बनाने का तरीका और क्या सावधानियां बरतनी चाहिए इसके बारे में बताया गया है.

अगर आप बाहर निकल रहे हैं तो चेहरे को मास्क या किसी कपड़े से जरुर कवर करें. तो चलिए अब हम आपको बताते हैं कि अगर आप होम मेड मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं तो मास्क बनाते वक्त किन किन बातों का ख्याल रखें. जिससे आपका मास्क आपको पूरी सुरक्षा दे सके.

1- फेसमास्क का कपड़ा- हाई थ्रेड काउंट फैब्रिक कॉटन यानि घर पर मास्क बनाने के लिए आपको अच्छी क्वालिटी का मोटा सूती कपड़ा लेना होगा. ये हवा में उड़ने वाले पार्टिकल को मास्क के अंदर जाने से रोकने का काम करेगा. घर पर मास्क बनाते वक्त इस बात का भी ख्याल रखें कि कपड़ा ऐसा हो जिसमें से आप आसानी से सांस ले सकें. हालांकि ये मास्क आपको N-19 मास्क के जितनी सुरक्षा तो नहीं दे सकता लेकिन अगर आप लोगों से दूरी बनाए हुए ये मास्क पहने रहते हैं तो ये होममेड मास्क भी काफी हद तक आपको सुरक्षित रखेगा.

2- फिल्टर एड करें- अगर आपको घर पर बने मास्क को और प्रभावी बनाना है तो आप इसमें एक और फिल्टर का इस्तेमाल कर सकते हैं. जैसे आप कॉफी फिल्टर, पेपर टॉवल, या कोई रीयूज करने वाली थैली का इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन इससे आपको सांस लेने में कोई तकलीफ नहीं होनी चाहिए. मास्क के लिए जो कपड़ा इस्तेमाल करें उसे पहले अच्छे से धो लें.

3- मास्क की फिटिंग- घर पर बने मास्क में एक और सबसे अहम बात है उसकी फिटिंग. आपका मास्क आपकी नाक को अच्छे से कवर करे, मास्क पहनने के बाद कान के पीछे कोई परेशानी न हो और मास्क आपकी ठोड़ी से नीचे होना चाहिए. मास्क की फिटिंग ऐसी होनी चाहिए को बाहर की नाक और मुंह को बाहर की हवा से बचा सके.

4- उपयोग में आसान- लंबे समय तक मास्क पहनना किसी को भी परेशान कर सकता है इसलिए घर पर मास्क बनाते वक्त लचीले बैंड का इस्तेमाल करना चाहिए. जो आपके कानों के पास ज्यादा टाइट न हो और जलन पैदा न करे.

5- बाहर निकलने पर मास्क न छुएं- एक बार अगर आप मास्क पहन कर घर से बाहर निकल रहे हैं तो आपको मास्क को बार बार हाथ से छूना नहीं है. क्योंकि मास्क की बाहरी सतह पर सबसे ज्यादा वैक्टीरिया होते हैं इसलिए मास्क ऐसा हो जिसमें आप आसानी से सांस ले सकें.

6- मास्क का दोबारा इस्तेमाल- घर पर बने मास्क को आप दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन याद रहे कि ये मास्क सबसे ज्यादा इंफेक्टेड है. इसलिए गंदे मास्क को हाथ न लगाएं साबुन से अच्छी तरह धोने के बाद ही इसको दोबारा इस्तेमाल करें. मास्क को धोने के बाद चेक कर लें कि कही फटा तो नहीं है या फिटिंग तो नहीं बदल गई.