मॉल, मंदिर और ऑफिस से घर लौटने के बाद कपड़ों को ऐसे करें सैनिटाइज, नहीं तो पड़ सकता है पछताना

जब भी बाहर से आएं तो अपने कपड़ों को उतारकर एक अलग बास्केट या बाल्टी में रख दें.

कोरोना (Corona) संक्रमण के इस वक्त में जब आप अपनी सभी चीजों को सैनिटाइज (Sanitize) कर रहे हैं तो कपड़ों (Clothes) का भी सैनिटाइजेशन जरूरी है. दरअसल कपड़े कीटाणुओं का आसान घर बन सकते हैं.

अनलॉक वन (Unlock 1) के दूसरे फेज की शुरुआत के साथ ही कई इलाकों में छूट देते हुए आम लोगों के लिए मॉल, मंदिर और रेस्तरां खोल दिए गए हैं. वहीं लोगों ने भी बाहर निकलना और इन जगहों पर जाना शुरू कर दिया है. हालांकि कोविड-19 (Covid-19) से सुरक्षा के लिए सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करने, मास्क (Mask) लगाने और बार बार हाथ धोने के लिए कहा जा रहा है. संक्रमण के इस वक्त में जब आप अपनी सभी चीजों को सैनिटाइज (Sanitize) कर रहे हैं तो कपड़ों का भी सैनिटाइजेशन जरूरी है. दरअसल कपड़े कीटाणुओं का आसान घर बन सकते हैं. ऐसे में कुछ आसान तरीकों को अपनाकर आप कपड़ों को जर्म फ्री या सैनिटाइज कर सकते हैं. आइए जानते हैं कौन से हैं वो तरीके.

कपड़ों को अलग बास्केट में रखें
इस समय जब भी बाहर से आएं तो अपने कपड़ों को उतारकर एक अलग बास्केट या बाल्टी में रख दें. इन्हें अपने अन्य धुलने वाले कपड़ों के साथ न मिलाएं. चाहें तो बाल्टी में पानी भरकर उसमें ऐंटीसेप्टिक लिक्विड या मल्टीयूज हाईजीन लिक्विड डाल सकते हैं और उसमें अपने कपड़ों को भिगो दें. इससे पहने गए कपड़ों के कीटाणु दूसरे कपड़ों के संपर्क में नहीं आएंगे.

इस समय कपड़ों को धोने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें. इसके लिए वॉटर टेंपरेचर करीब 55-60 डिग्री का रखें. यह कपड़ों से बैक्टीरिया को किल करने में मदद करता है. साथ ही कपड़े ज्यादा बेहतर तरीके से साफ भी होते हैं. कई वॉशिंग मशीन में पहले से वॉटर टेंपरेचर सिलेक्ट करने का ऑप्शन होता है, आप चाहें तो उसका इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

कैमिकल डिस्इंफेक्टेंट का करें इस्तेमाल
कपड़ों को धोते समय उसमें कैमिकल डिस्इंफेक्टेंट का इस्तेमाल जरूर करें. ऐसी ब्लीच जिसमें क्लोरीन मौजूद हो वह कपड़ों के लिए सबसे उपयुक्त है. हालांकि, इसे कपड़ों पर डायरेक्ट डालने से बेहतर है कि इसे डिटरजेंट के साथ मिलाकर, मशीन के सोप डिसपेंसर में डालें. अगर बाल्टी में कपड़े धो रहे हैं, तो मग में पहले इन्हें मिला लें, फिर उसे बाल्टी के पानी में मिलाएं और कपड़े भिगो दें.

वॉशिंग मशीन को करें डिस्इंफेक्ट

कपड़ों को धोने के बाद शिंग मशीन को डिस्इंफेक्ट जरूर करें. इसके लिए एक कपड़े को एंटीसेप्टिक लिक्विड या फिर कैमिकल डिस्इंफेक्टेंट में भिगो दें और फिर उससे मशीन को अच्छी तरह से साफ करें. इसके बाद सादे पानी में भिगाए गए कपड़े से सफाई करें. अगर आपने बाल्टी का उपयोग किया है, तो उसे लिक्विट या पाउडर डिटरजेंट की मदद से अच्छी तरह से धो लें. मग और ब्रश को भी इसी तरह से साफ करें.

कपड़ों को अच्छी तरह धूप में सुखाएं
कपड़ों में नमी न रहने दें. उन्हें अच्छी तरह से धूप में सूखने दें. इसके लिए मशीन ड्राइअर का यूज करें और उसे कम से कम 2 मिनट तक स्पिन होने दें. इन कपड़ों को धूप में डालें और अच्छे से सूख जाने दें. ड्रायर न हो तो कपड़ों को हाथ से निचोड़कर, उन्हें धूप में सुखाएं. कपड़ों को तब तक फोल्ड कर अलमारी में न रखें, जब तक कि उनमें से पूरी नमी न चली जाए. दरअसल जरा सी नमी भी रह जाने पर कपड़ों में जर्म्स घर बना सकते हैं.