• बेंगलुरु की पादुकोण-द्रविड़ एक्सीलेंट अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों की प्रैक्टिस शुरू, 65 में से 14 प्लेयर कोर्ट पर उतरे
  • प्रैक्टिस से पहले सभी खिलाड़ियों के तापमान की जांच की गई, पूरे हॉल और कोर्ट को प्रैक्टिस से पहले सेनेटाइज किया गया

स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) की गाइडलाइंस के बाद बेंगलुरु में पादुकोण-द्रविड़ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस शुरू कर दी है। पिछले साल यूथ ओलिंपिक में रजत पदक जीतने वाले लक्ष्य सेन भी कोर्ट पर उतरे।

लक्ष्य ने खुद के लिए शेड्यूल तैयार किया है। इसके तहत वे अपनी तकनीक को बेहतर बनाने का पर फोकस कर रहे हैं। उनकी प्रैक्टिस में नेट टंबल्स, हाफ स्मैश, क्लीयर और साइड टू साइड मूवमेंट्स शामिल हैं।

लॉकडाउन में पिता ने घर पर ही प्रैक्टिस का इंतजाम किया
लक्ष्य के पिता डीके सेन अकादमी में कोच भी हैं। लॉकडाउन के दौरान उन्होंने लक्ष्य के लिए घर में ही प्रैक्टिस के लिए इतंजाम किया था। उन्होंने घर में ही सोफा-कुर्सी और कॉफी टेबल के बीच नेट लगाया था। कई बार सोसायटी की पार्किंग में दो खंभों के बीच नेट बांधकर अभ्यास किया।

पूरी तरह से प्रैक्टिस अगस्त से ही शुरू हो पाएगी
कोरोना के कारण करीब 3 महीने बाद एक बार फिर से अकादमी में गाइडलाइंस के तहत प्रैक्टिस शुरू हुई। अकादमी के 65 में से 14 खिलाड़ी ही शहर में हैं, जिन्होंने प्रैक्टिस शुरू कर दी है। मुख्य कोच विमल कुमार का मानना है कि पूरी तरह से प्रैक्टिस अगस्त से ही शुरू हो पाएगी। प्रैक्टिस से पहले सभी खिलाड़ियों के तापमान की जांच की गई। वहीं पूरे हॉल और कोर्ट को सेनेटाइज किया गया।

स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का रखा गया ध्यान
प्रैक्टिस से पहले खिलाड़ियों को स्वास्थ्य प्रोटोकॉल की जानकारी दी गई। उन्हें निर्देश दिए गए कि स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करते हुए  हर 30 मिनट में हाथों को साफ करें। फर्श पर स्ट्रेचिंग न करें। जिम में न जाएं। अपने मैट का ही इस्तेमाल करें। खिलाड़ी एक-दूसरे से 3 मीटर की दूरी पर रहें।