• अब तक आईपीएल दो बार देश के बाहर खेला गया, 2009 में दक्षिण अफ्रीका और 2014 में टूर्नामेंट के मैच भारत के अलावा युएई में हुए थे
  • 29 मार्च से होने वाला आईपीएल कोरोनो के कारण अनिश्चितकाल के लिए टला, इसके रद्द होने से 4 हजार करोड़ रु. का नुकसान हो सकता है।

मुंबई. इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के होने को लेकर सस्पेंस बरकरार है। इसी बीच संयुक्त राज्य अमीरात (यूएई) ने बीसीसीआई को ऑफर दिया है कि वह आईपीएल को यूएई में करा सकता है। इससे पहले श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने भी टूर्नामेंट की मेजबानी का ऑफर दिया था। बीसीसीआई अधिकारी विदेश में टूर्नामेंट कराने को लेकर 3-2 में बंटे हुए हैं।

आईपीएल 29 मार्च से होना था, जिसे लॉकडाउन के कारण अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया। हाल ही में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा था कि यदि आईपीएल रद्द होता है, तो करीब 4 हजार करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

टी-20 वर्ल्ड कप पर फैसले तक इंतजार
बीसीसीआई 10 जून को होने वाली आईसीसी की बैठक का इंतजार कर रही है। मीटिंग में इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर फैसला करना है। यदि कोरोना के कारण वर्ल्ड कप टलता है, तो उसकी जगह अक्टूबर-नवंबर की खाली विंडो में आईपीएल कराया जा सकता है।

‘यूएई में अच्छी क्वॉलिटी की जगह और सुविधाएं हैं’
अमीरात क्रिकेट बोर्ड के महासचिव मुबाशशिर उस्मानी ने एक स्थानीय अखबार से कहा, ‘‘पहले भी अमीरात क्रिकेट बोर्ड ने यूएई में आईपीएल की सफल मेजबानी की थी। हमने कई द्विपक्षीय सीरीज को तटस्थ स्थान पर सफलतापूर्वक कराया है। किसी भी क्रिकेट टूर्नामेंट को कराने के लिए हमारे पास अच्छी क्वॉलिटी की जगह और सुविधाएं हैं। ऐसे में हमें आईपीएल दोबारा कराने में किसी प्रकार की मुश्किल नहीं होगी।’’

इंग्लिश सीजन कराने का ऑफर भी दिया था
उस्मानी ने बताया कि यूएई बोर्ड ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) को भी उनके इंग्लिश सीजन के बाकी बचे हुए मैच को यूएई में कराने का ऑफर दिया था। उन्होंने कहा, ‘‘हम आगे आए और भारत के साथ इंग्लैंड को भी ऑफर दिया। हमने पहले भी कई मौकों पर ऐसे कई टूर्नामेंट कराए हैं, जिनमें इंग्लैंड टीम खेली है। यदि हमारे प्रस्ताव को दोनों में से कोई भी बोर्ड मानता है, तो हमें उनके मैच कराने में खुशी होगी।’’

आईपीएल विदेश में कराने का विकल्प आखिरी हो
बीसीसीआई अधिकारी आईपीएल को विदेश में कराने को लेकर 3-2 में बंटे हुए हैं। बहुमत इस बात को लेकर है कि इस लीग को भारत में ही कराया जाए। इनमें से कुछ का कहना है कि परिस्थिति की मांग को देखते हुए यदि जरूरत पड़ती है तो लीग को भारत के बाहर कराया जाना चाहिए। यह विकल्प आखिरी होना चाहिए।

दो बार आईपीएल इंडिया के बाहर
आईपीएल को अब तक दो बार लोकसभा चुनाव के कारण भारत से बाहर कराया जा चुका है। 2009 में आईपीएल की मेजबानी दक्षिण अफ्रीका ने की थी। तब टूर्नामेंट 5 हफ्ते और 2 दिन तक चला था। इसके बाद 2014 में टूर्नामेंट के मैच भारत के अलावा युएई में खेले गए थे।

अब 37 दिन का हो सकता है आईपीएल शेड्यूल
इस बार आईपीएल 50 दिन की बजाए 44 दिन का होना था। सभी 8 टीमों को 9 शहरों में 14-14 मैच खेलने हैं। इनके अलावा 2 सेमीफाइनल, 1 नॉकआउट और 24 मई को वानखेड़े में फाइनल होना था, लेकिन बीसीसीआई अब इसका फॉर्मेट और छोटा करके 2009 की तरह 37 दिन का कर सकती है।