• लॉकडाउन का चौथा फेज 31 मई को खत्म हो रहा है, कई राज्य इसे बढ़ाना चाहते हैं
  • पश्चिम बंगाल में 1 जून से धार्मिक स्थल खुलेंगे, लेकिन 10 से ज्यादा लोगों को छूट नहीं

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के बीच चल रहा लॉकडाउन 31 मई से आगे बढ़ेगा या नहीं, इसका फैसला आज हो सकता है। गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यों से मिले फीडबैक के बारे में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चर्चा की थी। शाह ने इससे पहले गुरुवार को मुख्यमंत्रियों से फोन पर बात की थी। कई राज्य लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में हैं। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने अमित शाह से बातचीत के बाद कहा कि लॉकडाउन 15 दिन और बढ़ाया जा सकता है।

कर्नाटक ने धार्मिक स्थल खोलने की मांग की
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शुक्रवार को कह चुकी हैं कि उनके राज्य में 1 जून से धार्मिक स्थलों को खोलने की छूट दी जाएगी, लेकिन 10 से ज्यादा लोगों को इकट्ठे होने की इजाजत नहीं होगी। उधर, कर्नाटक ने भी पिछले दिनों मांग की थी धार्मिक स्थलों को खोलने की छूट दी जाए।

चौथे फेज में कंटेनमेंट जोन के बाहर दुकानें खोलने की परमिशन
देश में लॉकडाउन का चौथा फेज 18 मई को शुरू हुआ था, जो 31 मई तक रहेगा। इसमें सबसे बड़ी छूट दुकानों और बाजारों को दी गई। पहली बार कंटेनमेंट जोन के बाहर की सभी दुकानें खोलने की परमिशन दी गई, बशर्ते जिला प्रशासन इजाजत दे। इस बीच सरकार ने 25 मई से घरेलू उड़ानें भी शुरू कर दी हैं।

चौथे फेज में मिली छूट से 60% लोग खुश नहीं
एक लोकेशन बेस्ड ऐप के सर्वे में ये सामने आया है। सर्वे में शामिल 300 जिलों के 2.5 लाख लोगों में से 86% ने कहा कि लॉकडाउन के तीन फेज पूरे होने के बाद भी वे बाहर खाने या घूमने के लिए नहीं जा पा रहे। चौथे फेज में जो छूट दी गईं, उनसे 60% लोग खुश नहीं हैं। 49% लोगों के मन में कोरोना संक्रमण का डर है। 11% का कहना है कि देश में कोरोना के केस 5 लाख से भी ज्यादा पहुंच सकते हैं।