• ज्योतिषीय नजरिये से खास रहेगा ये हफ्ता; अस्त रहेगा शुक्र तारा, नौतपा भी खत्म होगा

हिंदू कैलेंडर के अनुसार इस सप्ताह की शुरुआत ज्येष्ठ महीने के शुक्लपक्ष की दशमी तिथि से हो रही है। इस दिन गंगा दशहरा पर्व मनाया जा रहा है। इसके अगले दिन निर्जला एकादशी का व्रत रहेगा। जो कि सभी एकादशी व्रत में बड़ा माना जाता है। ये नौतपा का आखिरी दिन भी रहेगा। उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में इस दिन से वट सावित्रि व्रत की शुरुआत हो जाती है। इसके बाद 5 जून को ज्येष्ठ महीने की पूर्णिमा तिथि को ये व्रत किया जाएगा। इस पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण भी लग रहा है। हालांकि ये उपच्छाया ग्रहण होने से कहीं दिखाई नहीं देगा। वहीं इस हफ्ते नौतपा खत्म होगा और शुक्र तारा भी अस्त रहेगा। इस तरह ज्योतिषीय नजरिये से ये हफ्ता महत्वपूर्ण रहेगा।

1 से 7 जून तक का पंचां

1 जून, सोमवार –  ज्येष्ठ शुक्ल दशमी, गंगा दशहरा, गायत्री जयंती

2 जून, मंगलवार – ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी, निर्जला एकादशी व्रत

3 जून, बुधवार –   ज्येष्ठ शुक्ल, द्वादशी, त्रयोदशी, प्रदोष व्रत

4 जून, गुरुवार –   ज्येष्ठ शुक्ल, चतुर्दशी,

5 जून, शुक्रवार –  ज्येष्ठ पूर्णिमा, वट सावित्री व्रत, उपच्छाया चंद्रग्रहण

6 जून, शनिवार –  आषाढ़ कृष्ण प्रतिपदा

7 जून, रविवार –   आषाढ़ कृष्ण, द्वितिया

अन्य महत्वपूर्ण दिन और जयंती

1 जून, सोमवार – गुरु अर्जुनदेव पुण्यतिथि

5 जून, शुक्रवार – संत कबीर जयंती

6 जून, शनिवार – गुरु हरगोविंद जयंती

ज्योतिषिय नजरिये से ये सप्ताह
1 जून, सोमवार – रवियोग

3 जून, बुधवार – रवियोग
4 जून, गुरुवार – रवियोग
5 जून, शुक्रवार – सर्वार्थसिद्धि योग, उपच्छाया चंद्रग्रहण

7 जून, रविवार – सर्वार्थसिद्धि योग