मददगार, मसीहा, रियल हीरो… ये शब्द अब सोनू सूद की तारीफ में कम पड़ रहे हैं। सोनू ने यूपी और बिहार के 1000 से ज्यादा मजदूरों को ट्रेन के जरिए उनके घरों की ओर रवाना किया है। जिन्हें छोड़ने वे खुद रेलवे स्टेशन तक पहुंचे। सोनू रात 2 बजे ठाणे स्टेशन पर पहुंचे। जहां उन्होंने यात्रियों मास्क, सैनिटाईजर, खाना देकर उन्हें रवाना किया और जाने वालों से फिर वही सवाल पूछा- वापस तो आओगे न।

इसके पहले हजारों मजदूरों और प्रवासियों को बसों से उनके घर पहुंचाया, केरल में फंसी 177 लड़कियों को एयरलिफ्ट करवाया, टोल फ्री और वॉट्सऐप नंबर जारी कर ज्यादा लोगों तक पहुंच बनाई ताकि कोई मुसीबत में अकेला न रहे। सोनू लगातार अपनी कोशिशों में कामयाब भी होते जा रहे हैं। यही वजह है कि महाराष्ट्र के गर्वनर भगतसिंह कोशयारी ने उनसे मिलकर पूरी मदद करने का बात कही है।

वीडियो में सोनू की मदद से घर वापसी कर रहे लोगों ने भी सोनू की तारीफ की। खुद सोनू ने रेलवे स्टेशन पर हर जाने वालों से पूछा कि वे कहां जा रहे हैं। उन तक सोनू की मदद कैसे पहुंची। सोनू ने सभी को मास्क पहनने और सैनिटाइज करने की हिदायत भी दी। इन लोगों में स्टूडेंट्स भी थे। लोगों ने सोनू सूद जिंदाबाद के नारे भी लगाए। सोनू ने इस स्पेशल ट्रेन को ग्रीन सिग्नल देकर रवाना किया, वहीं स्टेशन पर मौजूद स्टाफ ने भी तालियां बजाकर सोनू का अभिवादन किया।