• कुएं में पिछले 14 दिन से गैस लीक हो रही थी, मंगलवार को आग लग गई
  • प्रशासन ने आस-पास के गांवों के 6000 लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया.

तिनसुखिया. असम के तिनसुखिया जिले में बाघजन में ऑयल इंडिया के तेल के कुएं में मंगलवार को आग लग गई। कुएं से पिछले 14 दिन से गैस लीक हो रही थी। हादसे में 2 फायर फाइटर की मौत हो गई। ऑयल इंडिया के मुताबिक आग पर पूरी तरह काबू पाने में 4 हफ्ते लगेंगे।

कंपनी के प्रवक्ता त्रिदेव हजारिका के मुताबिक आग लगने के बाद लापता हुए दोनों फायर फाइटर के शव बुधवार सुबह मिले। शवों पर जलने के निशान नहीं हैं, इससे लगता है कि कर्मचारी कुएं में कूदे होंगे और डूबने से उनकी मौत हो गई। असली वजह पोस्टमार्टम के बाद पता चल पाएगी।

प्रभावित परिवारों को 30 हजार  
आग बुझाने की कोशिश में जुटा ओएनजीसी का एक फायर फाइटर भी झुलस गया। आग इतनी भयानक थी कि लपटें 10 किलोमीटर दूर से नजर आ रही थीं। आसपास के 1.5 किलोमीटर एरिया में रहने वाले 6,000 लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया है। ऑयल इंडिया ने हर प्रभावित परिवार को 30 हजार रुपए की मदद देने का ऐलान किया है।

तेल कुएं से 27 मई को गैस रिसाव शुरू हुआ था
गुवाहाटी से 500 किलोमीटर दूर स्थित बाघजन में ऑयल इंडिया के तेल कुएं में 27 मई को गैस रिसना शुरू हुआ था। तभी से वहां नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (एनडीआरएफ) तैनात है। राज्य के अधिकारी भी हालात पर नजर रख रहे हैं।