Dopamine Detox: आखिर किसलिए है खुशियों की कुर्बानी, जानें क्या है डोपामाइन फास्ट

जानें डोपामाइन डिटॉक्स क्या है

डोपामाइन डिटॉक्स क्या है (What Is Dopamine Detox/ Dopamine Fasting): डोपामाइन फास्ट का नया ट्रेंड शुरू हुआ है. इस नए फास्ट में आपको अपनी सेहत के नाम पर अपने पसंदीदा खाने पीने की चीजों की कुर्बानी नहीं देनी होगी.

डोपामाइन डिटॉक्स क्या है (What Is  Dopamine Detox/ Dopamine Fasting): कई लोग वजन घटाने के लिए उपवास रखते हैं. उपवास के दौरान वो खाने की कई चीजों से परहेज करते हैं. लेकिन हाल ही में डोपामाइन डिटॉक्स (Dopamine Detox) यानी कि डोपामाइन फास्ट का नया ट्रेंड शुरू हुआ है. इस नए फास्ट में आपको अपनी सेहत के नाम पर अपने पसंदीदा खाने पीने की चीजों की कुर्बानी नहीं देनी होगी. बल्कि इसमें आपको अपने सभी पसंदीदा कामों से जिन्हें करने से आपको ख़ुशी महसूस होती है से दूर होना होगा.

डोपामाइन डिटॉक्स क्यों करते हैं?
सैन फ्रांसिस्को में मनोचिकित्सा के एक प्रोफ़ेसर सिपाह ने डोपामाइन डिटॉक्स के बारे में लाइव साइंस को बताया कि डोपामाइन डिटॉक्स का मकसद डोपामाइन को कम करना या दिमाग द्वारा किए जा रहे बदलावों को जानना नहीं है. बल्कि डोपामाइन फास्टिंग लोगों की उन चीजों से दूर रहने में मदद कर रहा है जो कि एक समस्या हैं और इस समस्या ने आदत का रूप अख्तियार कर लिया है.

हेल्थलाइन के अनुसार, कैलिफोर्निया की सिलिकॉन वैली में इन दिनों कुछ लोगों में डोपामाइन फास्ट (Dopamine Fasting) का काफी क्रेज है. इसके तहत लोग अपने डोपामाइन लेवल को रिसेट करने के लिए उन चीजों से पूरी तरह से दूरी बनाए हुए हैं जो उन्हें वास्तविकता में ख़ुशी देती है- इसमें स्मार्टफोन, सोशल मीडिया, नेटफ्लिक्स, वीडियो गेम, लजीज खाना, बातचीत के दौरान आंखें मिलाना और यहां तक कि सेक्स भी शामिल है.डोपामाइन फास्टिंग के पीछे का साइंस:

मिशिगन विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान और तंत्रिका विज्ञान के प्रोफेसर केंट बेरिज, पीएचडी का कहना है कि उन सभी चीजों से ब्रेक लेना जो आपको वास्तविकता में ख़ुशी प्रदान करती हैं और जिनसे डोपामाइन एक्टिव होता है से डोपामाइन सिस्टम भले ही बंद हो जाए लेकिन इसे रिसेट नहीं किया जा सकता है.

उन्होंने हेल्थलाइन को बताया कि ऐसा नहीं है कि आपके दिमाग को साफ करने से यानी कि डोपामाइन को कंट्रोल करने से आप सुखों का अधिक आनंद नहीं ले पाएंगे. यह सिर्फ डोपामाइन को कंट्रोल से नहीं होगा.

ख़ुशी को उत्तेजना के साथ महसूस करने के लिए आप भले ही डोपामाइन के लेवल को रिसेट करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन इसके लिए ये जानना जरूरी है कि डोपामाइन कैसे काम करता है. बेरिज ने इसे इस तरह से समझाया कि कुछ चीजों की तीव्र चाहत या उन्हें हासिल करने की इच्छा के पीछे अलग कारक काम करते हैं, डोपामाइन केवल चाहत के लिए जिम्मेदार है.

डोपामाइन क्या है?
गल्फ न्यूज़ के अनुसार, डोपामाइन हमारे शरीर में पाया जाने वाला एक हार्मोन और एक न्यूरोट्रांसमीटर है. हमारा शरीर इस हार्मोन का उत्पादन करता है, और तंत्रिका तंत्र इसका उपयोग एक रासायनिक संदेशवाहक (chemical messenger ) के रूप में तंत्रिका कोशिकाओं (nerve cells) के बीच संदेश भेजने के लिए करता है.